Posted on

ज्योतिष विज्ञानं

क्या ज्योतिष विज्ञानं है ?ज्योतिष के द्वारा हम व्यक्ति के पूर्व और भविष्य को तथा उसकी प्रकृति और उसके चरित्र को जानते है। ऐसा माना जाता है की जीव ने पूर्व जनम में जो कुछ भी कर्म किए है उसका फल इस जन्म में मिलना होता है। ज्योतिष उसकी प्रमाणिक सुचना ग्रह ,राशियो और नक्षत्र के माद्यम से देता है। क्योकि अनंतकाल से ग्रह अपनी कक्षा में घुम रहे है और इनके चुम्बकीय प्रभाव से हमको प्रभावित कर रहे है। आपके पिछले जन्म में भी इनकी रफ्तार वोंही थी जो आज इस जन्म में है। कोई भी जीव / वस्तु इनके प्रभाव से बच नही सकते चाहे वो अच्छा या बुरा हो। चंद्रमा ज्वार भाटे का कारक है , पृथ्वी का गुरुत्वाकर्सन , अन्य ग्रहों का अपने केन्द्र में घूमना प्रमाण है . और अगर कोई अनजानी शक्ति ये कर सकती है तो जरुर ही ये हमारे शरीर और मस्तिस्क को प्रभावित करती ही होगी। आप माने या न माने । ज्योतिष के माध्यम से हम जान सकते है की कौन से ग्रह है जो की आपको प्रभावित कर रहे है? जिस समय आपका जन्म होता है उस समय जो ग्रह जिस स्तिथी और कोण में है उसी से इसका पता एक अच्छा ज्योतिष कर् सकता है। इसीलिए सही जन्म तारीख जन्म समय और जन्म स्थान का पता जरुर होनी चाहिए तभी आपके सही ग्रहों की स्तिथि का पता किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *